Chhatrapati Shivaji Maharaj jayanti - wikifeed
Chhatrapati Shivaji Maharaj jayanti celebration in Maharashtra
NEWS

Chhatrapati Shivaji Maharaj (छत्रपती शिवाजी महाराज) 390 वीं जयंती आज बड़े उत्साह के साथ मनाई जाएगी।

Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

Chhatrapati Shivaji Maharaj (छत्रपती शिवाजी महाराज) 390 वीं जयंती आज बड़े उत्साह के साथ मनाई जाएगी।

Topic: (Chhatrapati Shivaji Maharaj, Shiv Jayanti, Chhatrapati, Maharashtra, Shivneri)

Chhatrapati Shivaji Maharaj 390th jayanti celebration in Maharashtra: भारत के बहादुर शासकों में से एक रहे छत्रपति शिवाजी महाराज (Chhatrapati Shivaji Maharaj) की आज 390th जयंती मनाई जा रही है। छत्रपति शिवाजी (Chhatrapati Shivaji) को बुद्धिमान, बहादुर और एक महान राजा के रूप में याद किया जाता है। शिवाजी (Shivaji) की जयंती आज महाराष्ट्र में बड़े ही उत्साह के साथ मनाई जाएगी। और आपको बतादे की शिवनेरी (Shivneri) गढ़ के साथ शिवनेरी किले में शिव (Shiv Jayanti) का जन्मोत्सव होने जा रहा है।

Chhatrapati Shivaji Maharaj jayanti - wikifeed
Chhatrapati Shivaji Maharaj jayanti celebration in Maharashtra

Shivaji Maharaj (शिवाजी महाराज)

छत्रपति शिवाजी महाराज (Chhatrapati Shivaji Maharaj) का जन्म 19 feb 1630 AD में शिवनेरी (Shivneri) दुर्ग में हुआ था। शिवाजी महाराज (Shivaji Maharaj) के पिता का नाम शाहजी भोंसले और माता का नाम जीजाबाई (राजमाता जिजाऊ) था। शिवनेरी का दुर्ग पूना (महाराष्ट्र के पुणे) से उत्तर की तरफ़ जुन्नर नगर के पास था। उनका बचपन उनकी माता जिजाऊ माँ साहेब के मार्गदर्शन में बीता। वह सभी कलाओं में माहिर थे, उन्होंने बचपन में राजनीति एवं युद्ध की शिक्षा ली थी। शिवाजी (Shivsji) के बड़े भाई का नाम सम्भाजी था जो अधिकतर समय अपने पिता शाहजी भोसलें के साथ ही रहते थे। छत्रपति (Chhatrapati) की माता जीजाबाई यादव कुल में उत्पन्न असाधारण प्रतिभाशाली महिला थी और उनके पिता एक शक्तिशाली सामंत थे। शिवाजी महाराज (Shivaji Maharaj) के चरित्र पर माता-पिता का बहुत प्रभाव पड़ा। बचपन से ही वे उस युग के वातावरण और घटनाओं को भली प्रकार समझने लगे थे। छत्रपति शिवाजी महाराज का विवाह सन् 14 मई 1640 में सइबाई निंबाळकर के साथ लाल महल,महाराष्ट्र के पुणे में हुआ था।

Chhatrapati Shivaji Maharaj jayanti - wikifeed
Shivaji Maharaj 390th jayanti

Chhatrapati Shivaji Maharaj (छत्रपती शिवाजी महाराज)

छत्रपती शिवाजी महाराज (1630-1680 ई.) भारत के एक महान राजा एवं रणनीतिकार थे जिन्होंने 1674 ई. में पश्चिम भारत में मराठा साम्राज्य की नींव रखी। उन्होंने कई वर्ष औरंगज़ेब के मुगल साम्राज्य से संघर्ष किया। सन् 1674 में रायगढ़ में उनका राज्यभिषेक हुआ और वह “छत्रपति” बने।छत्रपती शिवाजी महाराज (Chhatrapati Shivaji Maharaj) ने अपनी अनुशासित सेना एवं सुसंगठित प्रशासनिक इकाइयों कि सहायता से एक योग्य एवं प्रगतिशील प्रशासन प्रदान किया। उन्होंने समर-विद्या में अनेक नवाचार किये तथा छापामार युद्ध (Gorilla War) की नयी शैली (शिवसूत्र) विकसित की। उन्होंने प्राचीन हिन्दू राजनीतिक प्रथाओं तथा दरबारी शिष्टाचारों को पुनर्जीवित किया और फारसी के स्थान पर मराठी एवं संस्कृत को राजकाज की भाषा बनाया।

Chhatrapati Shivaji Maharaj jayanti - wikifeed
Shivaji Maharaj jayanti

Chhatrapati Shivaji Maharaj धार्मिक नीति

शिवाजी (Shivaji) एक धर्मपरायण हिन्दु शासक थे तथा वह धार्मिक सहिष्णु भी थे। उनके साम्राज्य में मुसलमानों को धार्मिक स्वतंत्रता थी। कई मस्जिदों के निर्माण के लिए शिवाजी ने अनुदान दिया। हिन्दू पण्डितों की तरह मुसलमान सन्तों और फ़कीरों को भी सम्मान प्राप्त था। उनकी सेना में मुसलमान सैनिक भी थे। शिवाजी हिन्दू संस्कृति को बढ़ावा देते थे। पारम्परिक हिन्दू मूल्यों तथा शिक्षा पर बल दिया जाता था। अपने अभियानों का आरम्भ वे प्रायः दशहरा के अवसर पर करते थे।

Chhatrapati Shivaji Maharaj jayanti - wikifeed
Chhatrapati Shivaji Maharaj 390th jayanti celebration in Maharashtra

भारत के स्वतन्त्रता संग्राम में बहुत से लोगों ने छत्रपति शिवाजी महाराज (Chhatrapati Shivaji Maharaj) के जीवन चरित से प्रेरणा लेकर भारत की स्वतन्त्रता के लिये अपना तन, मन धन न्यौछावर कर दिया।

Chhatrapati Shivaji (छत्रपति शिवाजी) Tweet

छत्रपति शिवाजी को बुद्धिमान, बहादुर और एक महान राजा के रूप में याद किया जाता है। शिवाजी की जयंती के मौके पर पीएम मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, और बॉलीवुड के सुपरस्टार अमिताभ बच्चन ने भी उन्हें याद करते हुए ट्वीट किया है।

अमित शाह शाह Tweet:

‘हिन्दवी स्वराज्य के संस्थापक व साहस, शौर्य और पराक्रम के पर्याय छत्रपति शिवाजी महाराज न सिर्फ एक आदर्श शासनकर्ता थे बल्कि भारतीय वसुंधरा को गौरवान्वित करने वाले आदर्श पुरुष भी थे। मातृभूमि के लिए उनकी निष्ठा, समर्पण और बलिदान हमें सदैव प्रेरित करेगा। शिव जयंती पर उन्हें नमन।’

पीएम मोदी Tweet:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी छत्रपति शिवाजी महाराज को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि उनका जीवन लाखों लोगों को प्रेरणा देता है। मोदी ने मराठी और अंग्रेजी में ट्वीट करते हुए लिखा भारत के महानतम सपूतों में से एक, उनकी जयंती पर छत्रपति शिवाजी महाराज के साहस, करुणा और सुशासन का प्रतीक। प्रधानमंत्री ने कहा कि शिवाजी का जीवन लाखों लोगों को प्रेरित करता है।

अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) Tweet:

छत्रपति शिवाजी की जयंती के मौके पर बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) ने एक ट्वीट किया है, अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan Twitter) ने ट्वीट करते हुए लिखा,

‘छत्रपति शिवाजी महाराज’, यह शब्द नहीं, मंत्र है.’ सदियों बाद भी उनसे प्रेरणा ही मिलती है। वह दुनिया के एक श्रेष्ठ योद्धा और आदर्श राजा थे। उनका स्मरण हमेशा प्रेरणादायी रहा है। छत्रपति शिवाजी महाराज जी जयंती शत् शत् नमन।

 

Tag: 

shivaji maharaj, shivaji maharaj images, chhatrapati shivaji maharaj, shivaji maharaj photo, shivaji,shiv jayanti, shivaji maharaj jayanti, शिवाजी महाराज, shivaji jayanti, shivaji maharaj status, chhatrapati shivaji, shivjayanti 2020, शिवाजी महाराज फोटो, shivaji jayanti 2020, शिवाजी महाराज भाषण, chhatrapati, shivaji maharaj bhashan, छत्रपती शिवाजी महाराज, shivaji maharaj quotes, shiv jayanti 2020, 19 february, shiv jayanti status, shivaji maharaj powada, chhatrapati shivaji maharaj jayanti, shivjayanti,

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

Add Comment

Click here to post a comment