Karnataka Election Results - wikifeed
NEWS

कर्नाटक विधानसभा चुनाव 2018 : बीजेपी, कांग्रेस, जेडीएस, अन्य

Want create site? Find Free WordPress Themes and plugins.

karnataka election results 2018

 कर्नाटक विधानसभा चुनाव के रूझानों में  बीजेपी को पूर्ण बहुमत मिलता दिखाई दे रहा है.वहीं कांग्रेस को 59 सीटों का नुकसान होता दिख रहा है. कर्नाटक विधानसभा चुनाव में जेडीएस को जहां किंगमेकर माना जा रहा था अब ऐसा लग रहा है कि उसकी जरूरत किसी भी पार्टी को नहीं होगी. ये साफ हो गया है कि कर्नाटक में सीएम सिद्धारमैया का लिंगायत का दांव नहीं चला है.

Karnataka Election Results - wikifeed

 

रुझानों में बीजेपी को पूर्ण बहुमत

  • बीजेपी-114,
  • कांग्रेस-64,
  • जेडीएस-44, अन्य-2 सीट पर आगे
  •  बीजेपी-103,
  • कांग्रेस-70,
  • जेडीएस-47,
  • अन्य-2 सीट पर आगे

बहुमत के लिए 122 सीटों चाहिये और बीजेपी 110 सीटों के आसपास आसानी से  जाती दिखाई दे रही है. हालांकि कांग्रेस के नेता अशोक गहलोत का कहना है कि वह कर्नाटक में सरकार बनाएंगे और जेडीएस के साथ गठबंधन के संकेत दिये हैं. लेकिन अभी तक के रुझानों के मुताबिक बीजेपी भारी बढ़त की ओर से बढ़ रही है.

कर्नाटक विधानसभा चुनाव के लिए मतगणना जारी है। 222 सीटों के रुझानों में भाजपा ने बड़ी बढ़त बनाई है। भाजपा 120, कांग्रेस 58, जेडीएस 44 व अन्य दो सीट पर आगे है। इस बीच, बेंगलूरू में भाजपा कार्यालय में जश्न भी शुरू हो गया है। इधर, कर्नाटक चुनाव के नतीजे से सेंसेक्स में 400 अंक से ज्यादा का उछाल आया है।

कौन कहां से आगे:

  • शिकारीपुरा सीट से बीएस येद्दियुरप्पा आगे
  • रामनगर से कुमार स्वामी आगे
  • चामुंडेश्वरी सीट से सिद्दरमैया पीछे बादामी सीट से आगे
  • वरुणा से सिद्दरमैया के बेटे यतींद्र आगे
  • बादामी सीट पर श्रीरामुलु को बढ़त
  • दावणगेरे से मल्लिकार्जुन खड़गे के बेटे पीछे
  • बेल्लारी से रेड्डी बंधुओं को शुरुआती बढ़त
  • एचडी देवेगौड़ा के दोनों बेटे एचडी कुमार स्वामी रामनगर और एचडी रेवन्ना होलनर्सीपुरी आगे चल रहे हैं।

कर्नाटक चुनाव परिणाम LIVE UPDATES:

  • कांंग्रेस नेता मीम अफजल ने कहा- हम हारते हुये दिख रहे हैं.
  • सांसद मीनाक्षी लेखी ने कहा है कि हमें बीजेपी की जीत पर विश्वास था.
  • कांग्रेस हमको अछूत मानती है- जेडीएस प्रवक्ता दानिश अली…जेडीएस के प्रवक्ता दानिश अली ने कहा है कि अगर रूझान अगर नतीजे में बदले तो हम विपक्ष में बैठेंगे
  • बीजेपी की चुनावी मशीन ने खुद के खिलाफ मुद्दों पर पर्दा डालने में कामयाब रही- योगेंद्र यादव
  • कर्नाटक विधानसभा चुनाव में बीजेपी के 100 सीटों का आंकड़ा पार होते ही बेंगलुरु में बीजेपी कार्यकर्ताओं का जश्न शुरू हो गया है.

    224 सदस्यीय विधानसभा की 222 सीटों पर शनिवार को मतदान हुआ था। मुख्य मुकाबला भाजपा और कांग्रेस के बीच है। मतदान के बाद विभिन्न चैनलों पर प्रसारित एग्जिट पोल में त्रिशंकु विधानसभा की संभावना व्यक्त की गई है। ऐसी स्थिति में अगली सरकार के गठन में जदएस की भूमिका अहम हो सकती है।

भाजपा को बहुमत मिलने पर येद्दियुरप्पा होंगे कर्नाटक के अगले सीएम

भाजपा अगर बहुमत का आंकड़ा हासिल करने में कामयाब रही तो स्पष्ट तौर पर बीएस येद्दियुरप्पा ही कर्नाटक के अगले मुख्यमंत्री होंगे। लेकिन 2019 के लोकसभा चुनावों के मद्देनजर पार्टी किसी दलित चेहरे को उपमुख्यमंत्री भी बना सकती है। अगर दो-चार सीटें कम पड़ीं तो निर्दलीय विधायकों का समर्थन जुटाया जा सकता है।

कांग्रेस को बहुमत मिलने पर सिद्दरमैया होंगे राज्य के सीएम

कांग्रेस को बहुमत मिला तो इस बात में कोई संदेह नहीं है कि सिद्दरमैया ही राज्य के मुख्यमंत्री बने रहेंगे। ऐसे में दलित मुख्यमंत्री की मांग के मद्देनजर पार्टी किसी दलित को उपमुख्यमंत्री बना सकती है। एक संभावना किसी लिंगायत को उपमुख्यमंत्री बनाने की भी है। अगर पार्टी बहुमत के आंकड़े से दो-चार सीटें पीछे रह गई तो निर्दलीय विधायक ही उसका सहारा बनेंगे।

सिद्धारमैया ने रविवार को कहा था कि यदि आलाकमान फैसला करता है तो वह किसी दलित को मुख्यमंत्री बनाए जाने पर सहमत होंगे. राजनीतिक हलकों में उनके इस बयान को खंडित जनादेश की स्थिति में जनता दल (एस) से गठबंधन करने की ओर इशारा करने के रूप में माना गया. देवगौड़ा की पार्टी से सिद्धारमैया के संबंध हमेशा तनावपूर्ण रहे हैं. हालांकि पूर्व में वह जनता दल (एस) के ही नेता थे. सिद्धारमैया ने पूर्व में संवाददाताओं से कहा था, ‘‘मुझे यकीन है कि कांग्रेस बहुमत के साथ चुनाव जीतेगी और मैं मुख्यमंत्री बनूंगा.’’

हालांकि यह भी कहा कि आलाकमान अगले मुख्यमंत्री के बारे में फैसला करने से पहले जीत हासिल करने वाले उम्मीदवारों से भी सलाह – मशविरा करेगा. कांग्रेस ने क्योंकि मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार की घोषणा नहीं की थी, इसलिए लोकसभा सांसद मल्लिकार्जुन खड़गे और प्रदेश कांग्रेस प्रमुख जी परमेश्वर जैसे दलित नेताओं को संभावित विकल्पों के रूप में देखा जा रहा है. पार्टी के गिरते मनोबल को कर्नाटक में जीत से मजबूती मिलेगी जो केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार आने के बाद एक के बाद एक राज्य हारती जा रही है. कर्नाटक में हार से अगले लोकसभा चुनाव के लिए संभावित भाजपा विरोधी मोर्चे का नेतृत्व करने का उसका दावा कमजोर हो जाएगा.

अगर राज्य में भाजपा जीतती है तो एक बार फिर इसे मोदी के करिश्मे के रूप में लिया जाएगा तथा भाजपा शासित मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए भाजपा कार्यकर्ताओं में एक नई ऊर्जा का संचार होगा. जनता दल (एस) ने भी अपनी जीत का दावा किया है और कहा है कि मुख्यमंत्री पद के इसके उम्मीदवार एचडी कुमारस्वामी ‘‘किंग’’ होंगे, न कि ‘‘किंगमेकर.’’

Did you find apk for android? You can find new Free Android Games and apps.

1 Comment

Click here to post a comment